SARVODAYA

Just another weblog

3 Posts

6 comments

niyazahamadansari


Reader Blogs are not moderated, Jagran is not responsible for the views, opinions and content posted by the readers.

Sort by:

भूख व कुपोषण से कराहता बचपन – कैसे होगा उद्धार ?

Posted On: 17 Jan, 2012  
1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (2 votes, average: 5.00 out of 5)
Loading ... Loading ...

में

1 Comment

99वीं विज्ञान कांग्रेस

Posted On: 4 Jan, 2012  
1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (2 votes, average: 5.00 out of 5)
Loading ... Loading ...

न्यूज़ बर्थ पॉलिटिकल एक्सप्रेस में

0 Comment

नवीनतम प्रतिक्रियाएंLatest Comments

आदरणीय अंसारी जी,सादर आदाब। आपसे क्षमा माँगते हुये कहना चाहता हूँ कि हमारी सबसे बड़ी समस्या है हमारा अनेकानेक धर्म एवं जातियों में बँटा होना। बहुत से अपराधी एवं भ्रष्टाचारी लोग राजनैतिक रूप से संगठित होकर हमारा विविध रूप से शोषण करते हैं  यह सच है हमारे जन्म के साथ ही समस्याओं का भी जन्म हो जाता है। समस्याएं कई तरह की होती हैं। व्यक्तिगत,पारिवारिक,सामाजिक, धार्मिक एवं राजनैतिक आदि अनेक तरह की समस्याएं होती हैं। हम इनका समाधान अनेक तरह से करते हैं। व्यक्तिगत समस्या को हम व्यक्तिगत रूप से,पारिवारिक समस्या को पारिवारिक रूप से,सामाजिक एवं धार्मिक समस्या को सामाजिक एवं धार्मिक रूप से संगठित होकर करते हैं। किन्तु कुछ समस्याएं राष्ट्रीय स्तर की होती हैं। जिन्हें राजनैतिक रूप से संगठित होकर ही हल किया जा  सकता है। उसके लिये हमारे देश में संसदीय व्यवस्था स्थापित की गई है। जो सभी पहलुओं पर खरी नहीं उतर रही है। उसमें बहुत सी खामियाँ हैं। उन खामियों को दूर करने के लिये हमें जातिगत एवं धार्मिक अंतरों को भूलकर एवं संगठित होकर उन खामियों को दूर करना होगा।

के द्वारा: dineshaastik dineshaastik




latest from jagran